भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

राजस्व विभाग

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

नई दिल्ली, 12 जुलाई, 2022

 

प्रेस विज्ञप्ति

 

आयकर विभाग द्वारा तमिलनाडू में दो व्यापारिक समूहों के खिलाफ तलाशी अभियान

 

आयकर विभाग की ओर से 6-7-2022 को सिविल अनुंबध, रियल एस्टेट, विज्ञापन आदि के व्यापार करने वाले तमिलनाडू के दो व्यापारिक समूहों के खिलाफ तलाशी और जब्ती अभियान चलाया गया। तलाशी अभियान चेन्नई, कोयंबटूर और मदुरई के 40 से अधिक ठिकानों पर चलाया गया।

तलाशी कार्रवाई के दौरान, विभिन्न असाक्ष्यपूर्ण दस्तावेज और डिजिटल प्रमाणों को जब्त किया गया है। ऐसे प्रमाणों की प्राथमिक जांच करने पर पता चला है कि इन दोनों समूहों ने पिछले कुछ वर्षों में अपने बही खातों में फर्जी खरीद और व्यय का दावा करके अपनी करयोग्य आय को छुपाया है।

एक समूह के मामले में यह पाया गया कि इन फर्जी खरीद आदि के लिए किए गए भुगतान समूह द्वारा नकद में दुबारा प्राप्त किए गए। इसके अतिरिक्त, संयुक्त उद्यमों में लाभ को सांझा करने के लिए बड़ी मात्रा में आय को छुपाने के भी संकेत मिले जिनको नियमित बही खातों में नहीं दिखाया गया है।

दूसरे समूह के मामले में, यह पाया गया कि समूह ने कई फर्जी उद्यमों को खड़ा किया जिनको फर्जी खरीद और उप-ठेकेदारी के व्ययों का दावा करने के लिए प्रयोग किया गया था। जांच करने वाली टीम द्वारा ऐसे बेहिसाब और फर्जी लेनदेनों के संबंध में दस्तावेजी और इलैक्ट्रानिक रिकॉर्ड रखने के लिए समूह द्वारा सुरक्षित रखे गए कई गुप्त ठिकानों का पता लगाया गया। कुछ समूह उद्यमों के बही खातों में फर्जी पूंजी और ऋण देयताओं के प्रयोग करने के प्रमाण का भी पता लगाया गया।

अभी तक की जांच में समूह की अघोषित आय लगभग रू. 500 करोड़ से अधिक है।

आगे जांचें चल रही है।

 

(राकेश गुप्ता)

आयकर आयुक्त

(मीडिया व तकनीकी नीति)

आधिकारिक प्रवक्ता, सीबीडीटी