भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

राजस्व विभाग

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

नई दिल्ली, 17 दिसंबर, 2021

 

प्रेस विज्ञप्ति

 

वित्त वर्ष 2021-22 (तीसरी किशत तक) के लिए अग्रिम कर संग्रहण में लगभग 53.20 प्रतिशत की वृद्धि जो 16.12.2021 तक रू. 4,59,917.10 करोड़ तक पहुंचा

 

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रहण में 60 प्रतिशत की जोरदार वृद्धि दर्ज

वर्तमान राजस्व में रू. 1,35,093.6 करोड़ के कुल प्रतिदाय जारी किए गए

 

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रहण के आंकड़े 16.12.2021 तक दर्शाते हैं कि पिछले वित्तीय वर्ष यानी वित्त वर्ष 2020-21 की इसी अवधि में रू. 5,87,702.9 करोड़ की तुलना में रू. 9,45,276.6 करोड़ रहे जिसमें 60.8 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। वित्त वर्ष 2021-22 में शुद्ध संग्रहण (16.12.2021 के अनुसार) में वित्त वर्ष 2019-20 की इसी अवधि में 40 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई जब शुद्ध संग्रहण रू. 6.75,409.5 करोड़ था और वित्त वर्ष 2018-19 की इसी अवधि में 40.93 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई जब शुद्ध एकत्रीकरण रू. 6.70,739.1 करोड़ था।

रू. 9,45,276.6 करोड़ (16.12.2021 तक) के शुद्ध प्रत्यक्ष कर एकत्रीकरण में रू. 5,15,870.5 करोड़ (शुद्ध प्रतिदाय) का कार्पोरेशन कर (सीआईटी) और निजी आयकर (पीआईटी) प्रतिभूति लेनदेन कर सहित में रू. 4,29,406.1 करोड़ (शुद्ध प्रतिदाय) शामिल है।

वित्त वर्ष 2021-22 (16.12.2021 के अनुसार) के लिए कुल प्रत्यक्ष कर संग्रहण (प्रतिदाय के लिए समायोजन से पहले) पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में रू. 7,33,715.2 करोड़ की तुलना में रू. 10,80,370.2 करोड़ रहा। वित्त वर्ष 2019-20 के लिए कुल एकत्रीकरण रू. 8,34,398 था और वित्त वर्ष 2018-19 के लिए इसी अवधि में रू. 7,96,342 था।

रू. 10,80,370.2 करोड़ की कुल संग्रहण में रू. 6,05,652.6 करोड़ का कार्पोरेशन कर (सीआईटी) और निजी आयकर (पीआईटी) में रू. 4,74,717.6 करोड़ के प्रतिभूति लेनदेन कर (एसटीटी) शामिल है। मामूली शीर्षक के अनुसार संग्रहण (16.12.2021 तक) में रू. 4,59,917.1 करोड़ का अग्रिम कर, रू. 49,3,171.7 करोड़ का स्रोत पर कर कटौती, रू. 74,336.2 करोड़ का स्व-मूल्यांकित कर, रू. 44,028.7 करोड़ का नियमित निर्धारण कर, रू. 6,525.9 करोड़ का लाभांश वितरित कर और अन्य गैर जरूरी शीर्षकों के अंतर्गत रू. 23390.6 करोड़ का कर शामिल है।

वित्त वर्ष 2021-22 की पहली,दूसरी और तीसरी तिमाही के लिए संचित अग्रिम कर संग्रहण 16.12.21 को रू. 4,59,917.1 था जो वित्त वर्ष यानी 2020-21 के तुरंत पहले की इसी अवधि में अग्रिम कर संग्रहण रू. 2,99,620.5 करोड़ था जोकि 53.5 प्रतिशत (लगभग) की वृद्धि दर्शाता है। आगे, 16.12.2021 (वित्त वर्ष 2021-22) तक संचित अग्रिम कर संग्रहण में वित्त वर्ष 2019-20 में सी अवधि के दौरान 44.21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई जब अग्रिम कर संग्रहण (संचित) रू. 3.18,929.4 करोड़ था और वित्त वर्ष 2018-19 में इसी अवधि में 49.76 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई जब अग्रिम कर संग्रहण (संचित) रू. 3,07,096 करोड़ था।

16.12.2021 तक रू. 4,59,917.1 करोड़ के अग्रिम कर आंकड़ों में रू. 3,49,045.4 करोड़ का कार्पोरेट कर (सीआईटी) और रू. 1,10,871.7 करोड़ का निजी आयकर (पीआईटी) शामिल है। इस राशि के और अधिक बढ़नें की संभावना है चूंकि बैंकों से अग्रिम सूचना मिलनी बाकी है।

अभी तक वित्त वर्ष 2021-22 में रू. 1,35,093.6 करोड़ के प्रतिदाय जारी किए गए हैं।

 

(सुरभि आहलूवालिया)

आयकर आयुक्त

(मीडिया व तकनीकी नीति)

आधिकारिक प्रवक्ता, सीबीडीटी