भारत सरकार

राजस्व विभाग

वित्त मंत्रालय

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

नई दिल्ली, 16 दिसंबर, 2020

 

प्रेस विज्ञप्ति

 

आयकर विभाग द्वारा चंडीगढ़ में तलाशी अभियान

 

आयकर विभाग ने चंडीगढ़ स्थित सूचीबद्ध फार्मास्यूटिकल कंपनी और इसके संबंधित उद्यमों के मामले में 13.12.2020 को तलाशी और जब्ती अभियान चलाया। इसमें चंडीगढ़, दिल्ली और मुंबई में फैली कुल 11 परिसरों को शामिल किया गया।

समूह के खिलाफ मुख्य आरोप था कि निर्धारिती कंपनी ने एक वाहक कंपनी के नाम पर इंदौर में 117 एकड़ की बेनामी भूमि को खरीदा था। तलाशी के दौरान, बड़ी मात्रा में ऐसे प्रमाण मिले और जब्त किया गया जो स्पष्ट रूप से बताते हैं कि बेनामी कंपनी फार्मास्यूटिकल कंपनी की वाहक कंपनी है जिसका वास्तविक तौर पर कोई कारोबार नहीं हैं। बेनामी कंपनी के सभी फर्जी निदेशकों और शेयरधारकों ने अपने संबंधित बयान में यह स्वीकार किया कि कंपनी एक फर्जी कंपनी थी जिसकी कोई भी व्यापारिक गतिविधि नहीं थी और इंदौर में जमीन प्रबंध निदेशक के लाभ के लिए सूचीबद्ध कंपनी के फंड से खरीदी गई थी।

कंपनी इस बेनामी भूमि को बेचने के चक्कर में थी। जल्द से जल्द पूछताछ की गई और भावी खरीददारों के पास से रू. 6 करोड़ की नकद प्राप्ति सहित बेनामी भूमि का "विक्रय समझौता" भी मिला। खरीददारों ने अपने बयान में स्वीकार किया कि सौदा प्रबंध निदेशक द्वारा किया गया और बेनामी भूमि की बिक्री संबंधी समझौते पर प्रबंधन निदेशक के कार्यालय में हस्ताक्षर किए गए। खरीददारों ने यह भी स्वीकार किया कि उन्होंने एक हवाला ऑपरेटर की मदद से अलग-अलग तारीखों पर रू. 6 करोड़ का बेहिसाब नकद दिया। हवाला ऑपरेटर ने अपने बयान में सूचित कंपनी के कार्यालय में उनके द्वारा नकदी सौंपने और सही तारीख के साथ नकद को स्थानांतरण के लिए अपनी कार्य करने के तरीके को विस्तारपूर्वक बताया।

जांच से यह भी साबित हुआ कि प्रबंध निदेशक ने अपनी स्व-नियंत्रित संपत्ति को अपने पुत्रों को किराये की संपत्ति के तौर पर दर्शाकर आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 23 के अंतर्गत रू. 2.33 करोड़ के गलत ब्याज संबंधी व्यय का दावा किया।

अभी तक रू. 4.29 करोड़ की कीमत की नकदी और रू. 2.21 करोड़ की राशि के आभूषण को जब्त किया जा चुका है। 3 लॉकरों को निगरानी के अंतर्गत रखा गया है।

प्रबंध निदेशक के एचयूएफ द्वारा रू. 140 करोड़ के बेनामी शेयरों को रखने और वास्तविक राशि की नकली खरीद से संबंधित जांच चल रही है।

 

(सुरभि आहलूवालिया)

आयकर आयुक्त

(मीडिया व तकनीकी नीति)

आधिकारिक प्रवक्ता, सीबीडीटी