भारत सरकार

राजस्व विभाग

वित्त मंत्रालय

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

नई दिल्ली, 17 दिसंबर, 2020

 

प्रेस विज्ञप्ति

 

आयकर विभाग द्वारा तमिलनाडु में तलाशी अभियान

 

आयकर विभाग ने तमिलनाडु में ईरोड से एक समूह के मामले में 14.12.2020 को तलाशी अभियान चलाया जिसमें ईरोड और चेन्नई में 15 परिसरों को शामिल किया गया। समूह सरकारी कार्यों के लिए एक प्रमुख सिविल कांट्रेक्टर है जो समुद्र तट के साथ-साथ सीवेज ब्रेक को बनाने में विशेषज्ञ और बस यातायात, मैरिज हॉल और मसाले का व्यापार करता है।

तलाशी की मुख्य बात 21 करोड़ की बेहिसाब नकदी को जब्त करना है। यह पाया गया कि समूह खरीददारी के मुद्राविस्तार और अन्य अनुबंध कार्य व्ययों में शामिल था। आपूर्तिकर्ता और उप-ठेकेदारों को किए गए ऐसे बढ़ाए गए भुगतान नियमित तौर पर नकद में वापस प्राप्त किए गए। इस प्रकार से अर्जित बेहिसाब आय लगभग रू. 700 करोड़ है, जिसे रियल एस्टेट व्यापार और व्यापारिक व्यय में दुबारा लगाया गया। इसमें से, निर्धारिती ने अभी तक रू. 150 करोड़ की अघोषित आय होने की बात को स्वीकृत किया।

समग्र तौर पर इस तलाशी के परिणामस्वरूप रू. 700 करोड़ की बेहिसाब आय की पहचान हुई और रू. 21 करोड़ के बेहिसाब नकदी को जब्त किया गया।

आगे की जांच चल रही है।

 

(सुरभि आहलूवालिया)

आयकर आयुक्त

(मीडिया व तकनीकी नीति)

आधिकारिक प्रवक्ता, सीबीडीटी